जानिये आपके इंडोर प्लांट्स (पौधों) के लिए 15 सेहतमंद बातें

0
71
indoor plants

हमारे घर के इंडोर प्लांट्स घर की ख़ूबसूरती को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाते हैं। इंडोर प्लांट्स से घर की ख़ूबसूरती के साथ-साथ घर का वातावरण भी खुशनुमा बना रहता है। इन पौधों को सही तरीके और सही देखभाल की जरुरत होती है ताकि ये पौधे बहुत दिनों तक जीवित एवं स्वस्थ रह सकें। ये पौधे हमें ऑक्सीजन प्रदान करते हैं तथा लिविंग स्पेस में इनके होने से अच्छी उर्जा का संचार रहता है। हम में से बहुत से लोग शौक से पौधा लगा तो लेते हैं पर उसे ठीक तरह मेन्टेन नहीं कर पाते। जिसके फलस्वरूप पौधा खराब हो जाता है। हमें पौधा खरीदने से पहले थोड़ी जानकारी ले लेनी चाहिए जिससे हम अपने पौधे का ठीक प्रकार से ध्यान रख सकें।

  • पौधों की सही जातियों का चुनाव बेहद आवश्यक है। हमें अपने घर के अन्दर ऐसे पौधे लगाने चाहिए, जिनकी ऊंचाई सीमित हो, जिन पौधों को सूर्य की रौशनी की आवश्यकता अप्रत्यक्ष रूप से कम पड़ती है, जिन पौधों को पानी की जरुरत कम होती है। ऐसे पौधे जिनके जड़ अधिक ना फैलती हो और बहुत मोटी ना हो। पौधों को स्वस्थ भोजन की भी आवश्यकता होती है, इसलिए पुरानी मिट्टी को उच्च गुणवत्ता वाले खाद के मिश्रण में मिलाने से पौधे खिले हुए रहते हैं।
  • पौधे को अपनी सम्पूर्ण उंचाई से एक इंच या दो इंच बड़े बर्तन में रोपित करने से पौधे की वृद्धि अच्छी तरह से हो पाती है। एक 6-इंच के पौधे को 7- या 8-इंच के बर्तन में जाना चाहिए ताकि उसमें बढ़ने के लिए जगह हो।
  • अधिक पानी शायद सबसे आम कारण है जो एक पौधे के सही ढंग से पनपने को रोक देता है। कुछ पौधे हैं जो बहुत नम मिट्टी पसंद करते हैं, लेकिन ज्यादातर समय पौधे बेहतर महसूस करते हैं जब आप पानी देने के अंतराल के बीच मिट्टी को थोड़ा सूखने देते हैं। अपनी उंगली को मिट्टी में एक इंच अन्दर डालने पर (बर्तन के किनारे के करीब), अगर यह सूखा महसूस होता है, तो यह पानी देने का समय है। कुछ समय ऐसा करने के बाद, आपको गमले में पानी देने के सही अंतराल का पता चल जाएगा।
  • सही तरीके से पौधों को पानी डालने पर पौधे के जीवन पर इसका असर पड़ता है। पानी डालने के लिए, पत्तियों को ऊपर उठाएं और मिट्टी को तब तक पानी दें जब तक कि आप गमले के नीचे से थोड़ा सा पानी का बहाव न देख लें। यदि आपके पास अतिरिक्त पानी को पकड़ने के लिए तश्तरी है, तो इसे लगभग 30 मिनट के बाद पौधे वाले बर्तन से निकाल दें। पौधों का पानी में बैठ जाना अच्छा नहीं है, उन्हें खड़े ही रहना चाहिए। एक पौधे को पानी की फुहार पसंद है न की पूरी तरह से पानी से नहलाना।
indoor plant
  • बर्तन के तल पर छोटे कंकड़ की परत डालने पर बर्तन से पानी का निकास सही तरीके से हो पता है और पानी जमता नहीं है। यह अच्छी तरह से काम करता है। कंकड़ पानी को पौधे के जड़ों से दूर रखेगा। इसके अलावा, कुछ पौधों के लिए, जो कि थोड़ी नमी पसंद करते हैं, अगर कंकड़ में थोड़ा सा पानी है, तो इससे मदद मिलेगी। पौधे को रोपने के लिए जल निकासी छेद से उपयुक्त एक बर्तन का ही उपयोग करें। अच्छी जल निकासी पौधे के सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। बिना छेद वाले बर्तन सभी पानी को अंदर ही रखेंगे और संभावना से अधिक सड़ांध पैदा हो जाएगी जो पौधे की जड़ों को ऑक्सीजन नहीं लेने देगी।
  • हमेशा अपने प्लांट के केयर लेबल पर ध्यान दें – जब आप पहली बार इसे खरीदते हैं, या ऑनलाइन कुछ शोध करते हैं। आपको यह जानना होगा कि क्या आपका इनडोर प्लांट पूर्ण सूर्य, आंशिक सूर्य या छाया चाहता है। मेरा छोटा नीम्बू का पेड़ सूरज से प्यार करता है, इसलिए उज्ज्वल रोशनी पाने के लिए यह एक बड़ी खिड़की के सामने रखा है। अंजीर के पेड़ भी सूरज की ओर बढ़ते हैं, इसलिए इसे एक दिशा में झुकाव से रोकने के लिए थोड़ी देर में एक बार घुमाने की जरुरत होती है। आमतौर पर, अधिकांश पौधे वास्तव में सूर्यवाले कमरे को पसंद करते हैं, लेकिन कई पौधे (जैसे जेडजेड) ऐसे भी हैं जो कम प्रकाश के वातावरण में मध्यम रूप से अच्छी तरह उगते हैं।
  • यह ध्यान देने कि जरुरत है की क्या पौधा दुबला-पतला है या उसमें पीलापन है या नहीं। यह एक संकेत हो सकता है कि इसे पर्याप्त प्रकाश या पोषण नहीं मिल रहा है। यदि हां, तो धीरे-धीरे इसे एक ऐसे स्थान पर ले जाएं जहां यह अधिक प्रकाश प्राप्त कर सके। यदि कोई पौधा लंबे समय तक एक निश्चित स्थान पर रहा है, तो यह अचानक से स्थानांतरित होने पर पौधे में कुछ बदलाव आ सकते हैं, इसलिए इसे धीरे-धीरे एक नए क्षेत्र में परिवर्तित करना चाहिए।
  • पौधों के लिए उर्वरक एक आवश्यक तत्त्व है। जब पौधा पोषक तत्वों से बाहर निकल कर गमले में स्थान बनता है तो यह बस अपनी जड़ों को थोड़ा फैलाता है और नए पोषक तत्व पाता है। जब यह एक बर्तन में होता है, तो पौधे का फैलाव सीमित होता है। उर्वरक एक पोषक तत्व है। समय के साथ, पौधा पोषक तत्वों को पूरी तरह समाप्त कर देगा और इसे फिर से दोहराना पड़ सकता है। किसी अनुभवी माली से गमले की मिटटी बदलवानी चाहिए। समय समय पर खाद डालनी चाहिए, पौधे की ज़रूरत के हिसाब से। हर पौधे की अलग अलग खाद की ज़रूरत होती है और इस बारे में इन्टरनेट पर काफी जानकारी उपलब्ध है, ज़रूरत है तो बस पौधे की जाति का नाम डाल कर गूगल करने की।
  • पौधे को कीटों से बचाने के लिए किसी कीटनाशक का स्प्रे करना पौधे को होने वाले रोगों से बचाता है। आजकल कई हर्बल कीटनाशक उपलब्ध हैं। बहुत थोड़ी मात्रा में पेट्रोलियम तेल को पानी के साथ मिलाकर और पौधे को ऊपर और नीचे और पत्तियों के बीच में हल्का सा स्प्रे करने से पौधे सेहतमंद होते हैं।
indoor plants
  • पौधे के लिए पानी का उपयोग सतर्कता से करनी चाहिए और पानी का तापमान कमरे के तापमान के बराबर होना चाहिए। 68 °F या 20 ° C पानी को रखने के लिए सबसे अच्छा तापमान है जिसका उपयोग अपने पौधों को पानी देने के लिए कर सकते हैं। पानी के तापमान को निर्धारित करने के लिए थर्मामीटर का उपयोग कर सकते हैं।यदि आपका पानी बहुत गर्म है, तो इससे पौधे की जड़ को नुकसान हो सकता है। इससे पौधे को झटका लग सकता है और संभवतः यह इनडोर प्लांट को मार सकता है। पानी जो बहुत ठंडा है, जो पौधे में सुस्ती पैदा करता है, और यह सुस्ती और आगे जाकर पौधे को लगातार प्रभावित कर सकती है।
  • सूखी हवा कुछ पौधों के लिए बेहतर कार्य कर सकती है, जैसे कि कैक्टस, लेकिन अधिकांश पौधों को आर्द्रता की आवश्यकता होती है, विशेष रूप से ट्रॉपिक पौधों की। शांत धुंध के साथ एक ह्यूमिडीफ़ायर खरीद सकते हैं, और सुनिश्चित करें कि यह पौधे के लिए हवा में नमी प्रदान करने के लिए पर्याप्त करीब है, लेकिन पत्ते या फूलों को गीला नहीं करता है। यदि कमरे में नमी का अभाव रहेगा तो पौधा ठीक तरह ऑक्सीजन पैदा नहीं कर पायेगा और कमज़ोर हो जायेगा। पत्तों का झड़ना (विल्टिंग), पत्तों का कमज़ोर और बदरंग होना, और फूल की कलियां जो खराब विकसित होती हैं, संकेत हैं कि आपका पौधा कम आर्द्रता से पीड़ित है। ऐसे में कमरे में ह्यूमिडीफ़ायर लगा कर नमी का स्टार ठीक करें।
  • समय समय पर पौधे की पत्तियों पर जमी हुई मिट्टी को हलके हाथ से साफ़ कर दें या झाड़ दें।
  • जिस कमरे में आपके पौधे हों वहाँ चौबीस घंटे बत्ती जला कर ना रखें। रात के वक़्त लाइट बंद कर दें ताकि पौधे को भी रात का अहसास हो। ऐसा करने से पौधे का विकास सही तरह से होता है।
  • यदि आपने बड़े गमले में कई पौधे एक साथ लगा रखे हैं तो पौधों की अपनी जड़ें अलग-अलग अंतराल पर होनी चाहिए। आपको कितनी बार अपने पौधे को छंटाई करनी चाहिए यह भी आपको मालुम कर लेना चाहिए। एक पौधा जिसकी छंटाई नहीं की जाती है, नियंत्रण से बाहर हो सकता है, और ऐसे पौधे से जड़ें या शाखाएं और पट्टियां अपने बर्तन या फूलदान के बाहर आ सकती हैं। मृत शाखाओं या तनों को, जो कीड़े को आकर्षित कर सकते हैं, समय पर काट कर निकाल दें। एक भरे पूरे पौधे को पाने के लिए और अधिक मजबूत सिस्टम के विकास को बढ़ावा देने के लिए 45 डिग्री के कोण पर एक पत्ती नोड के ऊपर पुनारोपित करने से पौधे घने होते हैं।
  • अपने पॉटेड प्लांट ( पौधे युक्त गमले) में कॉफी या चाय डालना मक्खियों को आकर्षित करेगा जो आपके इनडोर प्लांट को खा सकती हैं। शुगर इसे इन कीड़ों के लिए भी एक सही प्रजनन स्थल बनाते हैं। जबकि कुछ लोगों का दावा है कि चाय या कॉफी के बचे हुए अंश पौधों के लिए अच्छा है, ऐसा उन पौधों के लिए काम करता है जो कम अम्लीय सहनशीलता रखते हैं। हर पौधे के लिए यह सही नहीं है और कई पौधे इससे मर भी सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here