जानिये लौंग के तेल के 14 अचूक और वैज्ञानिक फायदे

0
100
clove oil benefits

लौंग का तेल स्वास्थ्य-लाभ का एक अद्भुत स्त्रोत है। यह पारंपरिक रूप से बहुत महत्व रखता है। आयुर्वेद और पारंपरिक चीनी चिकित्सा में इसका बड़े पैमाने पर उपयोग किया गया है। लौंग ने अपने फायदों से 17 वीं शताब्दी तक पूरी दुनिया भर में मान्यता प्राप्त की। भोजन में स्वाद और सुगंध जोड़ने के अलावा, लोग विभिन्न औषधीय और स्वास्थ्य उद्देश्यों के लिए इसके तेल, पत्तियों, तनों और सूखी कलियों का उपयोग करते हैं। इसके उच्च एंटी-माइक्रोबियल (जीवाणु-विरोधी), एंटी-फंगल (फंगस या कवक रोधी), एंटीवायरल (वायरसरोधी), एंटीसेप्टिक और उत्तेजक गुणों के लिए, लौंग का तेल एक लोकप्रिय घरेलू उपाय है। लौंग के तेल के उपयोग से आप कुछ बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ घर बैठेर आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। लौंग का तेल एंटीऑक्सिडेंट के सबसे बड़े स्रोतों में से एक है। अरोमाथेरेपी में इसका उपयोग एंटीसेप्टिक और दर्द निवारक के रूप में किया जाता है, विशेष रूप से दांत दर्द और पेट दर्द के लिए। यह अक्सर विभिन्न विकारों के इलाज के लिए अन्य तेलों के साथ मिलाया जाता है। उदाहरण के लिए, जो लोग नींद न आने से परेशान हैं, वे शांति और आराम महसूस करने के लिए माथे पर सुगन्धित तेल के साथ कुछ हल्का गर्म लौंग का तेल लगा सकते हैं।

लौंग का तेल आपके दांतों के लिए अच्छा है:

अगर आपने कभी अपने टूथपेस्ट के लेबल पर ध्यान दिया हो तो लौंग इसके घटकों में से एक होगा। इसके मजबूत रोगाणुनाशक गुणों और यूजेनॉल (Eugenol) नामक एक तत्व के कारण, लौंग का तेल दांतों के दर्द, मसूड़ों के घाव और मुंह के छालों से बहुत प्रभावी रूप से लड़ता है। अपने अति सुगंधित गुणों के कारण, लौंग के तेल को गर्म पानी के साथ गरारा करने से आपको सांसों की बदबू से लड़ने में मदद मिल सकती है। बस एक गिलास गुनगुने पानी में लौंग के तेल की चार बूँदें डालें और प्रभावी परिणामों के लिए दिन में कम से कम दो बार गरारे करें।

लौंग का तेल इन्फेक्शन (संक्रमण) से लड़ता है:

एंटीसेप्टिक गुणों की भरमार के कारण, लौंग के तेल का उपयोग कटने , घाव, फंगल संक्रमण, कीट के काटने और यहां तक कि डंक के इलाज के लिए भी किया जा सकता है । हालांकि, लौंग के तेल को सीधे तौर पर लगाना हानिकारक साबित हो सकता है। यदि घाव बहुत ज्यादा खराब हो तो बादाम या नारियल के तेल में लौंग के तेल को मिल कर पतला कर के लगाने की सलाह दी जाती है। ये वाहक तेल आपकी संवेदनशील त्वचा को जलने से बचाएंगे जो लौंग के तेल के प्रत्यक्ष तौर पर लगाने के कारण हो सकता है । चिकित्सकीय परामर्श वांछनीय है.

लौंग का तेल गले में खराश, खांसी और जुकाम से लड़ता है:

इसके उच्च कोटि के सूजन विरोधी गुणों के कारण, लौंग का तेल गले में खराश, खांसी, ठंड और साइनसाइटिस के इलाज में काम आ सकता है। छाती, नाक और गले में फंसे बलगम को बाहर निकालने में इसका उत्कृष्ट योगदान होता है. लौंग के तेल का सेवन न केवल नाक के मार्ग को साफ कर सकता है, श्वसन संबंधी समस्याओं से राहत दिला सकता है बल्कि यह नाक के अन्दर के रास्ते और गले पर भी शीतल प्रभाव डालता है।

लौंग का तेल सिरदर्द कम करता है:

क्या आप काफी समय से सिरदर्द से बीमार हैं? किचन में जाएं, लौंग के तेल की चार बूंदें नमक के साथ मिलाएं और तुरंत राहत के लिए इसे अपने माथे पर लगाएं। लौंग के तेल में पाए जाने वाले फ्लेवोनॉइड्स (Flavonoids) में सूजन-रोधी तत्व होते हैं, जिसके परिणामस्वरूप सरदर्द में कमी आ सकती है. सूजन विरोधी गुण सूजन को कम करने में मदद करते हैं और दर्द कम करते हैं तथा शीतल प्रभाव भी डालते हैं। मांसपेशियों के दर्द और जोड़ों के दर्द के लिए लौंग के तेल का इस्तेमाल एक उत्कृष्ट दर्द निवारक के रूप में किया जा सकता है।

clove benefits

लौंग का तेल आपकी त्वचा के लिए अच्छा है:

लौंग का तेल साबुन, लोशन और यहां तक कि इत्र में भी पाया जाता है। और क्यों नहीं, आखिर इस खास तेल में ऐसे अद्भुत गुण होते हैं। लौंग के तेल में यूजेनॉल नामक एक तत्व होता है जो अपने जीवाणुरोधी गुणों के लिए जाना जाता है। यह एक ही समय में मुँहासों को ठीक करने, त्वचा की सूजन और लाली को कम करने और संक्रामक बैक्टीरिया को मारने में प्रभावी साबित हो सकता है। बस अपनी ‘त्वचा क्रीम’ में शुद्ध लौंग के तेल की 2 से 3 बूँदें मिलाएं और धीरे से लगाएं। लौंग का तेल बढ़ती उम्र के संकेतों से लड़ने में मदद कर सकता है। बस लौंग के तेल की कुछ बूँदें रुई के एक टुकड़े पर डालें और इसे दिन में कम से कम दो बार अपने चेहरे पर लगाएं। आप झुर्रियों और ढीली त्वचा में जादुई परिवर्तन देखेंगे। लौंग के तेल के उत्तेजक गुण मृत त्वचा को हटाते हैं, और रक्त के प्रवाह को बढ़ाते हैं जो आपकी त्वचा की युवावस्था को पुनर्जीवित करने में मदद करते है।

लौंग का तेल इम्युनिटी को अधिक मजबूत करता है:

लौंग का तेल आपकी प्रतिरक्षा (इम्युनिटी) को बढ़ाने में अद्भुत काम कर सकता है। तेल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण ऐसे हानिकारक फ्री-रेडिकल को दूर करते हैं जो कैंसर और हृदय रोगों जैसी विभिन्न बीमारियों का कारण बन सकते हैं। लौंग के सूखे फूल की कली में ऐसे तत्व होते हैं जो श्वेत रक्त कोशिकाओं की गिनती को बढ़ाकर प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने में मदद करते हैं, जिससे विलंबित प्रकार (delayed-type) की अतिसंवेदनशीलता (hypersensitivity) जैसी अवस्था में सुधार होता है।

लौंग का तेल अपच का इलाज करता है:

लौंग का तेल खराब हाजमे (अपच) और पेट से संबंधित समस्याओं से लड़ने के सबसे पुराने उपचारों में से एक है। लौंग और लौंग के तेल दोनों में पाए जाने वाला यूजेनॉल पेट की समस्याओं जैसे कि अपच और पेट के फूलने के इलाज में प्रभावी साबित होता है। यह बार बार हिचकी और मोशन-सिकनेस के इलाज के लिए भी काम आ सकता है।

लौंग का तेल सुंदर बालों के लिए:

यह आश्चर्यजनक तेल आपको सुंदर बाल भी दे सकता है। सिर पर लौंग का तेल लगाने से खोपड़ी में रक्त संचार बढ़ता है. इससे बालों की जड़ें पोषित होती हैं जो कि बालों का गिरना कम करता है और बालों के विकास में मदद करता है। यह सूखे और बेजान बालों को बहुत जरूरी चमक देता है । जैतून के तेल के साथ मिश्रित लौंग के तेल की एक छोटी सी मात्रा भी एक बेहतरीन कंडीशनर के रूप में काम कर सकती है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए, नम बालों पर इस मिश्रण को लगाएं, और इसके चारों ओर एक गर्म तौलिया लपेटें। इसे बीस मिनट तक रहने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें।

लौंग का तेल मितली के इलाज में मदद करता है:

लौंग का तेल गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत काम आ सकता है क्योंकि यह मितली और सुबह की सुस्ती को काफी हद तक कम कर सकता है। इसकी तेज सुगंध के कारण, लौंग के तेल को सुगंध चिकित्सा में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे रात को अपने तकिए पर लगाएं और शांति से सोएं।

clove oil benefits

लौंग का तेल कान का दर्द ठीक करता है:

लौंग का तेल कान के भयानक दर्द के लिए भी एक बहुत फायदेमंद और प्रभावी उपाय है। तिल के तेल के 2 चम्मच और शुद्ध लौंग के तेल की 3-4 बूंदों का हल्का गर्म मिश्रण लें और धीरे-धीरे इस मिश्रण को अपने कानों के अंदर लगाएं। इसे कुछ समय के लिए छोड़ दें। मिश्रण दर्द को कम करेगा और आप आराम महसूस करेंगे। चिकित्सकीय परामर्श वांछनीय है.

लौंग का तेल तनाव कम करता है:

क्या आप काम पर या घर पर किसी तरह के तनाव से जूझते हैं? लौंग के तेल की सुखदायक मालिश से आपको आराम मिलता है। अपने विशिष्ट गुणों के कारण लौंग का तेल शारीरिक थकान, मानसिक थकावट, चिंता और तनाव को कम करने में मदद करता है।

लौंग का तेल रक्त में से विषाक्त पदार्थों को खत्म करता है:

लौंग का तेल बेहतरीन रक्त शोधक के रूप में कार्य करता है और रक्त संचार को भी बढ़ावा देता है। यह रक्त में से विषाक्त पदार्थों को हटाने में मदद करता है। सुगंधित अर्क आपके रक्त के विषैले पदार्थों (टॉक्सिन) के स्तर को कम करता है और आपके शरीर के एंटीऑक्सीडेंट के स्तर को बढ़ाता है जो कि प्लेटलेट्स को और शुद्ध करता है और प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) के कामकाज को बढ़ावा देता है।

लौंग का तेल डायबिटीज रोगियों के लिए उपयोगी:

लौंग का तेल इंसुलिन के स्तर को बनाए रखने में भी मदद करता है। डायबिटीज (मधुमेह) इंसुलिन बनाने वाली अग्नाशय कोशिकाओं को क्षति पहुंचाकर प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर देता है, जिसके कारण शरीर को सामान्य रूप से कार्य करने के लिए पर्याप्त इंसुलिन नहीं मिल पाता। जब आप लौंग के तेल का सेवन करते हैं, तो इनमें सुधार देखा गया है. इन्सुलिन की ज़रुरत रक्त में उपस्थित शर्करा को कोशिकाओं के अन्दर भेजने के लिए होती है. शर्करा का पाचन कोशिकाओं के अन्दर ही होता है जहां इनके पाचन से उर्जा का निर्माण होता है. यहो उर्जा जीवन जीने के लिए ज़रूरी होती है. लौंग के तेल का असर इन्सुलिन रेजिस्टेंस (ऐसी स्थिति जिसमे शरीर की कोशिकाएं इन्सुलिन के लिए संवेदनशील नहीं होती) पर देखा गया है.

लौंग का तेल कीट निवारक के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं:

लौंग का तेल एक उत्कृष्ट कीट निवारक के रूप में काम करता है। यह बाजारों में मिलने वाले कई कीट निवारकों के अन्दर सामान्य रूप से पाया जाता है। परंपरागत रूप से, मच्छरों को दूर रखने के लिए, लौंग के तेल की कुछ बूंदें अपने कमरे और सोने के क्षेत्र के आसपास बिखेर दी जाती थीं । नीम्बू में 5-6 छेद करके हर एक छेद में एक बूँद लौंग के तेल की डाल कर कमरे में रखने से भी मच्छर और कीड़े नहीं आते.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here