Home स्वास्थ्य सेब का सिरका (एप्पल विनेगर) पीने से पहले इन 10 तथ्यों को...

सेब का सिरका (एप्पल विनेगर) पीने से पहले इन 10 तथ्यों को जानिये.

0
269
Apple cider vinegar is beneficial for health in some ways

भले ही वजन घटाने के लिए आपको कई सारे उत्पाद (जैसे सेब का सिरका) आसानी से मिल जाते हैं, लेकिन विशेषज्ञ मानते हैं कि इनमें से वजन कम करने के प्रोग्राम तथा उत्पाद वजन घटाने में तब तक सफल नहीं हो पाते जब तक आप बहुत ज्यादा मेहनत नहीं करते हैं। यह कोई आश्यर्च कि बात नहीं है कि सेब का सिरका आजकल बहुत से लोग इस्तेमाल कर रहे हैं. लोग इसका इस्तेमाल करते हैं केवल स्वास्थ्य बढाने के लिए। लेकिन क्या सेब का सिरका सच में वजन घटाने में सहायक है या फिर यह केवल एक अफवाह है, जो इसे लोकप्रिय बना रही है? तो हमनें आज इस लेख में उन सभी तथ्यों के बारे में बताया है जो दूध का दूध और पानी का पानी कर देगें।

वास्तव में यह वजन नहीं घटाता है।

सेब के सिरके के बारे में ज्यादातर वादे निराधार है. ये बात ‘नेशनल सेंटर फॉर वेट एंड वेलनेस’ के निर्देशक द्वारा कही गयी है। ऐसा मन जाता है कि सेब का सिरका एक मेटाबोलिक प्रक्रिया को बंद कर देता है जो मोटापा बढाती है। परन्तु इसके पीछे कोई वैज्ञानिक तथ्य नहीं है. एक अध्ययन में ये भी पता चला है कि जो व्यक्ति दो चमच सेब का सिरका खाते हैं वो 250 कैलोरी भी साथ में खा रहे होते हैं।

प्रोबायोटिक के रूप में इसकी गुणवत्ता संदिग्ध है।

सबसे पहले यह जानना आवश्यक है कि प्रोबायोटिक होता क्या है। एक प्रोबायोटिक एक विशिष्ट प्रजाती के बैक्टीरिया का समूह होता है जो मानव शरीर को लाभ पहुंचाने के काम आता है। ये दही, इडली, डोसा और केफिर जैसे उत्पादों में स्वाभाविक रूप से होते हैं. फिर इन्हें अलग से भी खरीदा जा सकता है। आजकल ऐसे पेय पदार्थ भी मिलते हैं जिनमें प्रोबायोटिक की अच्छी मात्रा होती है. विशषज्ञों का मानना है कि सभी लोगो को प्रोबायोटिक से लाभ हो इसके कोई पूख्ता सबूत नहीं है। सेब का सिरका जीवाणु युक्त खाद्य पदार्थों की श्रेणी में आता है जो कुछ ज्यादा फायदेमंद नहीं होता है। शोध ने उस प्रोबायोटिक को अच्छा बताया है जो आमतौर पर एक विशिष्ट जीवाणु से मिलकर बना होता है। पर सेब के सिरके में वो बैक्टीरिया नहीं होता. कुल मिलाकर वैज्ञानिक ये मानते हैं कि सेब का सिरका इतना नुकसानदेय भी नहीं है, लेकिन यह आंतो के लिए फायदेमंद भी नहीं है। वे बस इस एसिड (सेब का सिरका) से आंत पर होने वाले प्रभावों के बारे में सबको जागरूक करना चाहते हैं जिसके बारे में कोई बात नहीं करता ।

Apple cider vinegar does not  promote weight loss

सेब का सिरका आपको डिटोक्सिफाई (detoxify) नहीं करता है।

ऐसा मन जाता है कि सेब का सिरका आपको डिटोक्सिफाई करता है लेकिन असल में ऐसी कोई बात नहीं है। वास्तव में, शरीर मूल रूप से खुद को साफ रखने में स्वतंत्र रूप से सक्षम है। आपका शरीर अपने आप ही सभी अपशिष्ट पदार्थों को हटाता है और इसके लिए आपके शरीर में यकृत (लिवर), गुर्दे तथा आंत होती है। ये तीनों अंग मिलकर आपके शरीर से विषाक्त और अपशिष्ट पदार्थों को मल व मुत्र के रूप में बाहर निकाल देते हैं. इससे आपके शरीर को पोषक तत्वों का अवशोषण करने में भी मदद मिलती है। यदि आप सेब का सिरका इस्तेमाल करते रहे तथा खान पान और जीवन शैली में और कुछ ख़ास परिवर्तन न करें तो क्षीण संभावना है कि आपके शरीर में डिटोक्सिफिकेशन (detoxification),अर्थात गन्दगी का शरीर से बाहर निकलना, होगा।

कुछ लोगो में यह उल्टी का कारण बन सकता है।

देखा गया है कि पानी में सेब का सिरका मिलाकर पीने से लोगों का स्वास्थय बिगड़ सकता है और उन्हें उल्टीयां हो सकती है। यदि आपका पेट और आंतें अत्यंत सवेदनशील है तो सेब का सिरका आपके लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं रहेगा।

सेब का सिरका कुछ दवाओं के साथ मिलकर अनुकूल प्रभाव नहीं डाल पाता।

यदि आप इंसुलिन या मूत्रवर्धक दवाएं (रक्तचाप के लिए,गुर्दे के लिए या ह्रदय सम्बन्धी बीमारी के लिए) लेते है और सिरका लेने के भी इच्छुक हैं तो इससे पहले आपको किसी अच्छे डाक्टर से सलाह लेनी चाहिये। सेब का सिरका इन दवाओं का प्रभाव कम कर सकता है.

यह उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए सिद्ध साबित नहीं हुआ है।

सिर्फ इसलिए कि चुहों में रक्तचाप कम करने के लिए एसिडिक अम्ल इस्तेमाल किया गया था यह सिद्ध नहीं करता कि इसका मनुष्यों पर भी समान प्रभाव पड़ेगा। और जब तक इस पर अच्छे तरीके से अध्ययन नहीं किया जाता तब तक यह कहना मुश्किल है कि सेब का सिरका मनुष्य का ब्लड-प्रेशर कम संतुलित रख सकता है।

Apple cider vinegar may cause acidity and other health conditions

सेब के सिरके का ज़रूरत से ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिये।

माना कि इससे जुडे़ हुए जादुई दावे ज्यादातर दावें गलत साबित हुए हैं इसका मतलब ये नहीं है कि आप सेब का सिरका नहीं इस्तेमाल सकते। वैज्ञानिक सबूतों की कमी का यह मतलब नहीं है कि ये आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है। अगर आप इसे अपने भोजन में जोडते हैं तो गौर करने वाली बात ये है कि आप किस तरह और कितना खाते है। एक बार में 2 चम्मच से अधिक सेवन नहीं किया जाना चाहिये। सेब के सिरके का अत्यधिक सेवन आपके स्वास्थय पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। आपके दांतों में अम्ल जमा हो सकता है तथा इससे आपकी आंते भी प्रभावित हो सकती है और इससे आपके पेट में जलन भी हो सकती है। सिरका मूल रूप से एक असरदार अम्ल (तेज़ाब) है. जैसे आप अन्य औषधियों, खाद्य पदार्थो को खाते समय सावधानी बरतते हैं वैसे ही सेब के सिरके के इस्तेमाल के समय भी सावधानी बरतनी चाहिये।

कभी कभी यह रक्त शर्करा के स्तर को भी कम कर देता है परन्तु इससे जुड़े कोई पुख्ता सबूत नहीं है।

‘जर्नल ऑफ़ फंक्शनल फूड’ में 2013 में किये गये एक अध्ययन से पता चलता है कि लगभग बारह सप्ताह तक रोजाना सेब के सिरके का सेवन करने वाले लोगों में रक्त शर्करा का स्तर कम पाया गया। लेकिन दिक्कत यह थी कि ये अध्ययन मात्र चौदह लोगों पर ही किया गया था जो पहले से टाइप-2 डायबिटीज के शिकार थे।

वैज्ञानिक अध्ययन एक बहुत शानदार तरीका है किसी चीज के सेहत पर असर के बारे मे पता लगाने का. लेकिन यह तब तक सफल नहीं माना जाता है जब तक यह अध्ययन बड़े पैमाने पर ना हो, और अलग-अलग प्रकार की जनसंख्या पर करके न देखा गया हो। पर इससे यह नहीं कहा जा सकता है कि सेब का सिरका रक्त शर्करा स्तर को कम करने में बिल्कुल असक्षम है। सेब का सिरका एक ऐसा अम्ल है जो भोजन की एसिडिटी (अम्लता) को बढ़ा देता है और कई तरह के पोषक तत्वों के अवशोषण में खलल डाल सकता है। यह भोजन का अवशोषण करने वाले एंजाइमों को भी प्रभावित कर सकता है। इस सन्दर्भ में यह कहना उचित होगा कि जब तक किसी चीज का अच्छे से अध्ययन नहीं किया जाता है तब तक उससे होने वाले प्रभावों व दुष्प्रभावों के बारे में कोई पता नहीं लगा सकता है।

इसे भूख कम करने के लिए कतई इस्तेमाल नहीं करना चाहिये।

कुछ शोध बताते हैं कि सेब के सिरके में मौजूद एसीटिक अम्ल भूख को कम करता है और कुछ दूसरे शोध बताते हैं कि यह चूहों के शरीर में वसा के संचय को कम करने में सहायक है. तो इसका मतलब हमें अभी तक इसकी कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पाई है। लेकिन शायद इस तथ्य से अधिक महत्वपूर्ण यह है कि सेब के सिरके को भूख को दबाने वाले पदार्थ के रूप में नहीं दिखाया गया है। जब आप भूखे रहते हैं तो आपके शरीर को वह पोषण नहीं मिल पाता जिसका वह हकदार है। यदि आप कभी भूखा महसूस करते हो तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपको एक भूख दबाने वाले प्रोडक्ट की जरूरत है। आपको बस ये ध्यान रखना है कि आप जो भी खा रहें है उसमें कैलोरी कितनी है।

यह निर्धारित करने के लिए कोई शोध नहीं किया गया कि सेब के सिरके के कुछ अन्य स्वास्थ्य संबंधी उपयोग है या नहीं।

हालांकि सेब के सिरके को मुंहासों, हिचकी और एलर्जी में उपयोगी माना जाता है पर पुख्ता प्रमाण अभी तक उपलब्ध नहीं है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here