इन 15 अलग-अलग देशों में विनम्रता कैसे दिखाएं?

0
122
polite girl

विनम्रता जीवन मे एक बहुत बड़ा गुण है. विभिन्न देशों और संस्कृतियों में विनम्रता दिखाने के अलग अलग तरीके हैं. विनम्रता के आगे देवता भी झुक जाते हैं। यह किसी भी व्यक्ति के हृदय में भी दया, प्रेम, क्षमा और उदारता जैसे भाव पैदा करती है। यह उसके भीतर छिपे अभिमान को नष्ट कर देती है। हमें ये जानना ज़रूरी है कि किस देश में किस प्रकार के व्यवहार को विनम्र समझा जाता है. आइये जानते हैं.

1. वियतनाम में घर में प्रवेश करने से पहले अपने जूते उतारें।

ज्यादातर एशियाई देशों के आगुंतकों को घर में प्रवेश करने से पहले अपने जूतो को निकाल देना चाहिये. ऐसा नहीं करना एक बड़ी सांस्कृतिक गलती मानी जाती है. यह मन जाता है कि घर का आंतरिक भाग व्यक्तिगत जीवन का प्रतिनिधित्व करता हैं। दरवाजे के बाहर अपने जूतें (हाँ, यहां तक की रात तक) निकालकर हमेशा सम्मान की भावना दिखाएं और सुनिश्चित करें कि आपके पैर साफ हैं।

2. जापान में अपनी चॉपस्टिक को कटोरी से चिपकने मत दीजिये।

चावल से भरे एक छोटे कटोरे में कभी भी अपनी चॉपस्टिक को चिपकने न दें। क्यों कि जापान में यह एकदम वर्जित माना जाता है. ऐसा इसलिए है क्योंकि यह अंतिम संस्कार वाले दिन को याद दिलाता है जहां मृतक को भेंट के रूप में केन्द्र में खड़ी दो चॉपस्टिक के साथ एक कटोरी चावल की पेशकश की जाती है। यदि आप भोजन अभी भी कर रहे हो तो अपनी चॉपस्टिक को कटोरे के उपर या कटोरे के बगल में रखें।

3. इटली में अपने रेस्टोरेंट में खाने के बाद बिल का अनुरोध करें।

एक यात्रा कम्पनी के अनुसार जब इटली में भोजन किया जाता है तो अपने सबसे अच्छे व्यवहारों पर ध्यान दें. इटली में भोजन को अधिक औपचारिक मामलों के रूप में माना जाता है। एक और अंतर यह है कि वेटर कभी आपसे बिल के पैसे नहीं मागता है जब तक आप उसे इसके लिए नहीं पुछते हैं. इसलिए इटली में जब भी आप भोजन अर्ने के बाद भुगतान करने के लिए तैयार होते हैं तब आपको वेटर को सचेत करने की आवश्यकता होती है.

restaurant food

4. सउदी अरब में वेशभूषा संहिता का पालन करें।

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि अगर आप सोचते हैं कि किसी भी देश द्वारा कपड़ों पर निर्धारित किये गये नियम उचित है या नहीं. अगर आप उस देश के मेहमान हैं तो आपको वहां की वेशभूषा संहिता को पालन करना होगा. सउदी अरब में महिलाओं को सिर पर एक स्कार्फ और अबाया (एक लम्बी पोशाक) पहनना आवश्यक होता है अगर वे मस्जिद जैसे कुछ स्थानों पर जाना चाहती हैं. चाहे जुलाई के महीने की तेज तर्रार गर्मी ही क्यों न पड़ रही हो। अंगप्रदर्शन करने वाले वस्त्र पहनने की अनुमति सऊदी अरब में नहीं है. मध्य पूर्व के सभी देश हालांकि इस मामले में इतने सख्त नहीं है. आपको यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि आप कहीं जाने से पहले वहाँ की वेशभूषा संहिता के बारे में अवश्य जान लें।

5. ग्रीस में अपनी थाली में खाना न छोड़ें।

अपनी थाली में खाना छोडना आपके मेजबान के अपमान के रूप में देखा जा सकता है. इसका यह मतलब यह हो सकता है कि आपकों भोजन इतना स्वादिष्ट नहीं लगा. यदि आप किसी चीज को अधिक खाने या पसंद नहीं करने के बारे में चिंतिंत हैं तो आप जितना खाना चाहते हैं अपनी प्लेट में उतना ही डलवाए। यदि आप और डलवाना चाहते हैं तो आप मेजबान को आग्रह कर सकते हैं इससे उन्हें प्रसनता होगी।

6. केन्या की एक ख़ास जनजाति में हैलो कहने के लिए थूकिये।

केन्या में मासाई जनजाती उसी तरह थूकती है जिस तरह हम बाकी देशों में हाथ मिलाते हैं। उस संस्कृति में थूकने का अर्थ  उपहार व प्रंशसा करना माना जाता है। हालांकि केन्याई जो मासाई का हिस्सा नहीं है, वे बस हैलो कहने के लिए हम सब की तरह एक दूसरे से हाथ मिलाते हैं या फिर एक दूसरे की तरफ हाथ लहराते हैं।

7. फिजी में किसी भी वस्तु की तारीफ से सावधान रहें।

फिजीयन संस्कृति केरेकेरे या सम्पति के रिवाज को मानती है। इसका मतलब अगर कोई आपसे कुछ मांगता है तो अच्छा होगा आप उसे विनम्रता पूर्वक दे दें। दूसरी तरफ इसका मतलब यह भी है कि आपकों खुले तौर पर किसी चीज की प्रशंसा करने से सावधान रहना चाहिये जो कि एक फिजीयन करता है क्योंकि वे आपको इसे देने के लिए बाध्य महसूस करेंगे।

8. थाईलैंड में हाथ मिलाने के बजाय अपने हाथों को छाती तक लाकर जोड़िये।

हाथ मिलाना थाईलैंड में एक अच्छी संस्कृति नहीं मानी जाती है. जब आप किसी से मिलते हैं तो आपको ‘वाई‘ की पेशकश करनी चाहिये इसमें आपको अपने दोनों हाथों को छाती तक लाकर जोडकर अभिवादन करना होता है. यह आपकी तरफ से उनके प्रति श्रद्धा भावना और सम्मान प्रकृट करता है।

9. संयुक्त अरब अमीरात में उन लोगों के सामने खाना नही खाना चाहिये जो लोग उपवास कर रहें हैं।

यदि आप रमजान के दौरान किसी मुस्लिम देश की यात्रा करते हैं तो इस समय वहां के लोग इस पवित्र अवधि के दौरान उपवास रखते हैं। उपवास करने वाले लोगों के सामने खाना पीना एक बहुत ही बुरा शिष्टाचार माना जाता है। इसका मतलब यह नहीं है कि आपको उनके व्रत का पालन करने कि आवश्यकता नहीं है लेकिन आपको अपने भोजन का सेवन वहां करना चाहिये जहां वे लोग आपके खाने की ध्वनि या गंध से परेशान न हों।

10. इंग्लैंड में लाइन मे लगें।

अंग्रेजों के लिए कतारे या रेखाएं एक विशेष स्थान रखती हैं। वे धैर्य को बहुत महत्व देते हैं और जो भी कतार को तोड़ने की कोशिश करता है उसे अच्छा नहीं समझा जाता. उसे सजा दी जाती है। कतार में प्रतीक्षा करते समय किसी भी प्रकार की शिकायत को सही नहीं माना जाता है। अच्छे माहौल के साथ प्रतीक्षा को समाप्त करना इंग्लैंड में मजबूत नैतिक चरित्र का संकेत माना जाता है।

11. रूस में सूरजमूखी के गुलदस्ते को छोड़ दीजिये।

रूस में किसी को पीला फूल देना नफरत का प्रतीक माना जाता है. किसी को यह देना आपतिजनक माना जाता है। पीले फूलों को अंतिम संस्कार के फूलों के रूप में भी माना जाता है। एक और बात, रूस के लोग हमेशा विषम संख्या में फूल देते है. वहाँ पर कभी भी सम संख्या में फूल नहीं दिये जाते। इसलिए यदि आपको सूरजमुखी का फूल पसंद है तो रूस में आपको सजग रहना पड़ेगा.

sunflower in russia

12. भारत में पारंपरिक भोजन अपनी उंगलियों से खाना अच्छा समझा जाता है।

भारत का पारंपरिक भोजन आमतौर पर उंगलीयों द्वारा खाया जाता है और इस तरह से परोसा जायेगा कि आपके लिए सुविधाजनक हो। तरल व्यंजनों को बाहर निकालने के लिए दो उंगलियों और रोटियों का उपयोग करें। खाना खाते समय अपने बाये हाथ को इस्तेमाल नहीं करना चाहिये. ऐसा करना अशुद्ध और अपमानजनक के रूप में माना जाता है। हालांकि यदि आप चम्मच और छूरी से भी खाना खाते हैं तो आपको सम्मान की निगाह से देखा जायेगा. पर पारंपरिक तौर से यहाँ हाथ से खाना अच्छा समझा जाता है.

13. मैक्सिको में धैर्य एक विशेष गुण है।

मैक्सिको में यातायात अमेरिका कि तुलना में काफी धीमी गति से चलता है। लेकिन अच्छी खबर यह है कि देरी होना कोई बुरी चीज नहीं होती है। यदि आप दूसरों के धीमेपन से निराश है तो आप इसे अपने तक ही सीमित रखें। मैक्सिको के लोग बेहद विनम्र होते हैं इसलिए आप वहां जाकर आक्रामकता ना दिखाए क्योंकि इससे वहां के लोग आपकी मदद करने में दिलचस्पी नहीं लेंगे।

14. मोरक्कों में अपने घुटनों व कंधों को ढक कर रखें।

विनम्रता को सिर्फ एक धार्मिक मुददे के रूप में नही देखा जाता है, बल्कि यह मोरक्कों में यह राजनीति और सम्मान का प्रतीक भी है। महिलाओं व पुरूषों दोनों को आमतौर पर ऐसे कपड़े पहनने पड़ते हैं जो कंधों व घुटनों को पूरी तरह ढकते हैं। छोटे कपड़े या बिना आस्तीन वाली शर्ट केवल खेलते समय या समुद्र तट पर ही पहनी जाती है। अन्य समय पर ऐसे कपड़े पहनना केवल एक अण्डरवीयर पहनने के बराबर ही है, जो ठीक नहीं है.

15. चीन में उपहार के रूप में चाकू कभी न दें।

उपहार देना चीन का एक महत्वपूर्ण अनुष्ठान है, यहां तक की नये परिचितों के लिए भी. लेकिन जब भी आप किसी तरह के उपहार को खरीदते हैं तो कभी भी चाकू जैसी धारदार चीजें न खरीदें। उपहार के रूप में कभी चाकू, कैंची या किसी अन्य काटने वाले उपकरण को न खरीदे क्योंकि वे आपके रिश्ते के अन्त का संकेत देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here