स्विट्ज़रलैंड कितना अजीब देश है. जानिये ये रोचक बातें.

0
90

स्विट्ज़रलैंड में करीब आधी शादियाँ तलाक में खत्म हो जाती हैं.

यदि नुक्लिअर हमला हो जाये तो स्विट्ज़रलैंड में इतने जमीन के नीचे स्थित बंकर रुपी घर हैं कि वहाँ के सभी नागरिक उनमें रह सकते हैं और उनकी जान बच जाएगी.

स्विट्ज़रलैंड की नागरिकता पाने के लिए कम से कम १२ वर्ष तक वहाँ रहना ज़रूरी है.

विश्व में सबसे अधिक चॉकलेट बनाने वाला देश स्विट्ज़रलैंड ही है.

स्विट्ज़रलैंड का शुरूआती नाम ‘हेल्वेशिया’ था.

जुरिच शहर में १२२४ पानी के फव्वारे हैं.

मिल्क चॉकलेट (दूध की चॉकलेट) का आविष्कार हेनरी ‘नेस्ले’ और डेनियल ‘पीटर’ ने किया.

स्विट्ज़रलैंड में शिक्षकों को सबसे ज्यादा वेतन मिलता है.

स्विट्ज़रलैंड में सभी बैंक कर्मी जो पैसे का लेनदेन करते हैं (बैंक टेलर), बुलेट प्रूफ शीशे के पीछे बैठते हैं.

दुनिया में स्विट्ज़रलैंड ही एक ऐसा देश है जहां सौरऊर्जा (सोलर एनर्जी) से चलने वाला वायुयान है.

स्विट्ज़रलैंड में २०० पहाड़ ऐसे हैं जिनकी उंचाई 3 किलोमीटर से भी अधिक है.

जुरिच शहर में कॉफ़ी की कीमत विश्व में सबसे ज्यादा है.

switzerland is a very popular tourist destination for indians

स्विट्ज़रलैंड  की कंपनी रोलेक्स ने पहली वाटर प्रूफ (पानी से खराब न होने वाली) घड़ी १९२७ में बनायीं थी.

स्विट्ज़रलैंड में यदि आप गाड़ी चलने का टेस्ट 3 बार में पास नहीं कर पाते तो आपको सैकोलोजिस्ट (मनोवैज्ञानिक) के पास जाके बताना होता है कि आप ऐसा क्यों नहीं कर पाए.

२० वर्ष का होते ही स्विट्ज़रलैंड के हर नागरिक को १८ सप्ताह की मिलिट्री ट्रेनिंग करनी पड़ती है.

विश्व की ज़्यादातर महंगी घड़ियाँ स्विट्ज़रलैंड में बनायीं जाती हैं.

यदि कोई मरीज़ किसी जानलेवा बीमारी से पीड़ित है तो वो असिस्टेड सुसाइड (मेडिकल मदद से जान देना) का रास्ता अपना सकता है.

नेस्कैफे, विश्व की पहली इंस्टेंट कॉफ़ी, स्विट्ज़रलैंड में ईजाद हुई थी.

स्विट्ज़रलैंड में नागरिक वहाँ की संसद द्वारा जारी किये हुए किसी भी क़ानून को चैलेंज कर सकते हैं यदि वे १०० दिन में ५०,००० हस्ताक्षर इकट्ठा कर लें.

स्विट्ज़रलैंड में एक गुप्त जगह पर लिओनार्दो दा विंसी द्वारा बनाई गयी मशहूर पेंटिंग ‘मोनालिसा’ रखी हुई है. ये दूसरी मोनालिसा पेंटिंग है. इसमें मोनालिसा को अधिक जवान रूप में पेंट करके दिखाया गया है.

स्विट्ज़रलैंड में लगभग हर प्रकार की मोटर रेसिंग पर सख्त मनाही है. ऐसा फैसला १९५५ के ‘ले मांस’ दुर्घटना के बाद लिया गया. इस दुर्भाग्यजनक दुर्घटना में एक कार क्रेश हो गयी और उसके टुकड़े हवा में उड़े और स्टैंड में बैठे ८३ दर्शकों की उन टुकड़ों से आहत हो कर मृत्यु हो गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here