जानिये नारियल पानी पीने के ये 14 बेहतरीन फायदे

0
244
coconut water benefits

नारियल का पानी एक प्राकृतिक पेय है जो हमारे शरीर को ताजगी देता है। इसके लाभों से हम सदियों से अवगत हैं. यह इतना शुद्ध होता है कि यदि किसी मरीज को प्लाज्मा (रक्त का तरल पदार्थ) नसों में चढ़ाना हो और उसकी उपलब्धता न हो, तो नारियल पानी चढ़ा सकते हैं. यह शरीर के सभी अंगों को शीतलता और कोमलता से रखता है. इसके इतने सारे फायदे हैं कि यह कुदरत का करिश्मा ही जाना जाता है. हमे हमारे रोजमर्रा की जिंदगी में नारियल के पानी का सेवन अवश्य करना चाहिए।

जब नारियल का फल बिलकुल हरे रंग का हो तब नारियल के फल के सूखने के पहले इसको उतार लिया जाता है. पेड़ से उतार कर नारियल के फल के उपरी भाग को तिकोने काट कर इसके अन्दर संचित पानी तक पहुँचने का रास्ता बनाया जाता है. नारियल का फल बहुत ही कठोर होता है तथा इसको तोड़ने के लिए ताक़त और तकनीक दोनों चाहिए. हरे नारियल के फल का वजन आमतौर पे 1400 ग्राम तक का हो सकता है. नारियल के एक पेड़ को तैयार होने में 12-13 वर्ष का समय लगता है. नारियल के फल को तोड़े जाने के स्तर तक पहुँचने में लगभग 12 महीने तक का समय लग सकता है. फल बनने के 6-7 महीनों के बाद, नारियल के फल की अंदरूनी दीवार में नरम, पतली, जेली जैसी परत तैयार (एंडोस्पर्म) हो जाती है और इसे चम्मच से खाया जा सकता है। 10-12 महीने की उम्र में, इसे परिपक्व नारियल के रूप में जाना जाता है. पके हुए नारियल में पानी की मात्रा कम हो जाती है. इसमें कठोर और मोटे मांस की परत होती है, और स्वाद कम मीठा हो जाता है.

विश्व में इंडोनेशिया नारियल का सबसे बड़ा उत्पादन करने वाला देश है. भारत में यह आमतौर में समुद्री तटों वाले राज्यों में उपजाया जाता है इनमे केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, ओड़िसा, पश्चिमबंगाल, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र मुख्य हैं. नारियल गुच्छों में उगता है । एक वयस्क नारियल का पेड़ आमतौर पर हर महीने एक नया क्लस्टर या प्रति वर्ष लगभग 12 गुच्छा पैदा करता है। एक उत्पादक नारियल का पेड़ प्रति वर्ष 30-1000 नारियल का उत्पादन कर सकता है।

नारियल पानी एक बेहद फ्रेश करने वाला पेय है, जिसकी अंतर्राष्ट्रीय बाजार में लोकप्रियता हाल के वर्षों में लगातार बढ़ रही है। नारियल के पानी में मुख्य रूप से खनिज (मिनरल) होते हैं। स्वाभाविक रूप से ताज़ा, नारियल पानी में एक हल्का मीठा सा स्वाद होता है। इसमें आसानी से पचने वाले कार्बोहाइड्रेट होते हैं। इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स के रूप में मिनरल (खनिज) भी होते हैं. नारियल के पानी में स्पोर्ट्स ड्रिंक की तुलना में कम कैलोरी, कम सोडियम और अधिक पोटेशियम होता है। प्रति औंस, शुद्ध नारियल पानी (बिना मिलावटी) में 5.45 कैलोरी, 1.3 ग्राम चीनी, 61 मिलीग्राम पोटेशियम और 5.45 मिलीग्राम सोडियम होता है। इसकी तुलना में किसी सामान्य एनर्जी ड्रिंक में 6.25 कैलोरी, 1.75 ग्राम चीनी, 3.75 मिलीग्राम पोटेशियम और 13.75 मिलीग्राम सोडियम होता है।

नारियल पानी में कई स्पोर्ट्स ड्रिंक की तुलना में कम चीनी और सोडा और कुछ फलों के रस की तुलना में बहुत कम चीनी होती है। सादा नारियल पानी कम मीठे और कम सोडियम होने की वजह से वयस्कों और बच्चों के लिए बेहतर विकल्प हो सकता है। आइये जानते हैं नारियल पानी पीने के कुछ बेहद बढ़िया फायदे.

नारियल पानी पाचन में मदद करता है

नारियल पानी में पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है। नियमित रूप से फाइबर का सेवन हमारे पाचन तंत्र के लिए चमत्कार करता है। यदि प्रतिदिन एक नारियल का पानी पीते हैं, तो हमारे शरीर को दैनिक फाइबर आवश्यकताओं का लगभग 9 प्रतिशत प्राप्त होगा, जो हमारे पाचन को भी ठीक रखने में मदद करता है

नारियल पानी गुर्दे की पथरी को रोकने में मदद करता है

मानव मूत्र के रूप में किडनी हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों और अशुद्धियों को हटाने में मदद करती है। लेकिन कभी-कभी मूत्र बनने की प्रक्रिया में या उत्सर्जित करने की प्रक्रिया में कुछ बदलाव होते हैं और गुर्दे में पथरी बनने लगती है। नियमित रूप से नारियल पानी का सेवन करने से गुर्दे (किडनी) में क्रिस्टल (छोटी-छोटी पथरी के टुकड़े) के निर्माण की संभावना को कम करके इस दर्दनाक स्थिति से बचा जा सकता है।

नारियल पानी मेटाबोलिज्म (चयापचय) में सुधार करने में मदद करता है

मेटाबोलिज्म (चयापचय) का अर्थ है शरीर के अन्दर होने वाली सभी रासायनिक क्रियाएं जिनसे जीवन सुचारू रूप से चलता है. अच्छा चयापचय अच्छे स्वास्थ्य के लिए सुनिश्चित तरीकों में से एक है। नारियल पानी में मौजूद विभिन्न पोषक तत्व आपके चयापचय को बढ़ावा देने में मदद करते हैं. मैंगनीज इनमें एक बहुत महत्वपूर्ण तत्व है। इसलिए, अपने आहार में इस पानी को शामिल करके अपने चयापचय को बहुत अधिक संतुलन दे सकते हैं. अच्छी मेटाबोलिज्म से शरीर का वजन कण्ट्रोल रहता है और बीमारियाँ होने के आसार कम होते हैं.

नारियल पानी हृदय के स्वास्थ्य को बढ़ाने में मदद करता है

हृदय स्वास्थ्य में सुधार के लिए नारियल पानी को आहार में जोड़ा जान चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह पानी रक्तचाप को कम करने और इस प्रकार दिल के दौरे की संभावना को कम करने में मदद करता है। विभिन्न अध्ययनों से यह साबित हुआ है कि नियमित रूप से नारियल पानी दिल की सेहत में सुधार के लिए बहुत फायदेमंद है।

coconut water benefits

डिहाइड्रेशन (निर्जलीकरण – शरीर में पानी की कमी) को रोकने में मदद करता है

निर्जलीकरण हमारे शरीर की ऊर्जा को बहुत कम कर सकता है। यह कई तरह की गंभीर स्वास्थ्य संबंधी जटिलताओं को भी जन्म दे सकता है। इसके अलावा, जब शरीर निर्जलित हो जाता है, तो यह न केवल पानी खो देता है, बल्कि महत्वपूर्ण पोषक तत्व और आवश्यक लवण भी खो देता है। इससे शरीर का ब्लड प्रेशर (रक्तचाप) जानलेवा तरीके से कम हो सकता है. हालांकि ऐसी अवस्था में, पर्याप्त मात्रा में नारियल पानी पीने से शरीर के सभी खोए हुए पोषक तत्वों और पानी की तुरंत भरपाई हो जाती है। नारियल पानी को डिहाइड्रेशन के मरीज़ में ग्लूकोस कि जगह सीधे नसों में चढ़ाया जा सकता है – यह इतना शुद्ध और असरदार होता है. है न यह सुनने में एक अजूबा?

नारियल पानी डायबिटीज (मधुमेह) के रोगियों के लिए सहायक है

डायबिटीज (मधुमेह) के रोगियों में नारियल पानी एक वरदान की तरह काम करता है. नारियल पानी में केलोरी और चीनी की कमी और पोटैशियम और अन्य खनिज की उपलब्धता इसे मधुमेह रोगियों के लिए बहुत ही लाभकारी पेय बनाती है।

शरीर का अधिक वजन कम करने में मदद करता है

अपने आहार में नियमित रूप से नारियल पानी शामिल करना अतिरिक्त कैलोरी का सेवन करने से खुद को रोकने का एक शानदार तरीका है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि नारियल पानी फाइबर से भरपूर होता है, जो लंबे समय तक तृप्त रखता है. इसके सेवन से आपके द्वारा आहार में ली हुई कैलोरी कम होती है और इस तरह नारियल पानी वजन कम करने में मदद करता है।

शरीर की सूजन को कम करने में मदद करता है

शरीर में अतिरिक्त सोडियम के परिणामस्वरूप सूजन हो सकती है। ऐसा इसलिए है कि सोडियम पानी को शरीर से बाहर जाने से रोकता है. फलस्वरूप शरीर में अधिक पानी इकठ्ठा हो जाता है और सूजन आ सकती है. हालांकि, यदि हम नारियल पानी अपने खाने पीने में शामिल करते हैं, तो हमारे शरीर में पोटेशियम का स्तर बढ़ सकता है। पोटैशियम हमेशा सोडियम के प्रभाव को कम करने में मदद करता है और शरीर में आई हुई सूजन को कम करता है।

नारियल पानी हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है

नारियल का पानी हमारी हड्डियों को मजबूत बनाने में बहुत अच्छा है क्योंकि इसमें कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा होती है। इसमें मैग्नीशियम भी होता है जो हड्डियों की मजबूती में मदद करता है।

मांसपेशियों की ऐंठन रोकने में फायदेमंद

यदि मांसपेशियों में ऐंठन होतो है या क्रेम्प (अचानक उठने वाला ऐंठन जैसा दर्द) आ जाते हैं तो यह कई कारणों से हो सकता है। हालांकि, अगर यह कम पोटेशियम आहार या ज़ोरदार वर्कआउट के कारण है, तो नारियल पानी इन दोनों स्थितियों में बेहतर परिणाम दे सकता है। क्योंकि नारियल पानी पोटेशियम से भरपूर होता है, शरीर को इलेक्ट्रोलाइट्स और पानी भी प्रदान करता है जिससे मांसपेशियों की ऐंठन कम होती है. फलस्वरूप दर्द में भी कमी आ जाती है.

नारियल पानी विषैले पदार्थों को उत्सर्जित करने में मदद करता है

शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए हमारे शरीर को डिटॉक्सिफाई करने की आवश्यकता होती है। नारियल पानी शरीर को हाइड्रेट करता है और इसे सभी आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है. इसके असर से मूत्र के द्वारा विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद मिलती है।

नारियल पानी दस्त का इलाज करने में मददगार है

डायरिया हमारे शरीर से प्राकृतिक लवण और इलेक्ट्रोलाइट्स (खनिज) को नष्ट कर सकता है। उन्हें फिर से परिपूरित करने के लिए हमारे शरीर को ओ.आर.एस. जैसे पूरक आहार की आवश्यकता होती है। नारियल पानी एक प्राकृतिक पूरक है, और ओ.आर.एस की तुलना में दस्त के इलाज में बेहतर है क्योंकि इसमें खनिज, एंजाइम, फैटी एसिड, एमिनो एसिड और कई अन्य पोषक तत्व होते हैं।

नारियल का पानी एक प्राकृतिक पेय है जो हमारे शरीर को ताजगी देता है. इसके इतने सारे फायदे हैं कि यह कुदरत का करिश्मा ही जाना जाता है. हमे हमारे रोजमर्रा की जिंदगी में नारियल के पानी का सेवन अवश्य करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here