जानिये कॉफ़ी से जुड़े 51 दुर्लभ और अनजान तथ्य

0
11
coffee
  1. तुर्की अपने कॉफीहाउस को ‘बुद्धिमानों का स्कूल’ बुलाते हैं।
  2. २०१० में कॉफ़ी को ईंधन की तरह इस्तेमाल कर के कार चलाई गयी और इस कार ने लगभग २०० मील की दूरी तय की. इस घटना को गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी शामिल किया गया.
  3. 15वीं शताब्दी के आखिर तक कांस्टेंटिनोप्ल (आधुनिक समाज में इस्तांबुल) में कॉफ़ी कि दुकानें हर जगह पायी जाती थीं. टर्की की संस्कृति में कॉफ़ी उस समय इस तरह बस चुकी थी कि किवदंती के अनुसार एक कानूनी नियम बनाया गया कि यदि एक पति अपनी पत्नी को पर्याप्त मात्रा में कॉफ़ी नहीं प्रदान कर सकता तो औरत ऐसे पति को तलाक़ दे सकती है.
  4. कॉफी की खोज 9वीं शताब्दी में की गई थी। इथोपियन बकरी के झुंड को चराने वाले एक आदमी, जिसका नाम खल्दी था, ने देखा कि उसकी सुस्त बकरियां एक सदाबहार पेड़ पर लगी लाल रंग की बेरी खाने के बाद ज्यादा उत्तेजित हो जाती हैं। खल्दी ने कुछ बेरी ली और एक मुस्लिम आदमी को दीं। जिसने उस कच्चे फल से कॉफी जैसा स्वादिष्ट पेय बनाया।
  5. हालांकि कॉफी की खोज इथोपिया में लगभग 850 ए.डी. में की गई। परन्तु जब तक यह यमन के पास नहीं आई, तब तक इसे कोई नहीं जानता था। परंतु यमन तक फैलने के बाद यह एक लोकप्रिय पेय के रूप में मजबूती से स्थापित हो गई। मोचा (जिसकी वजह से कॉफी के एक प्रकार को मोचा कॉफी का नाम प्राप्त हुआ) बींस को भारत, जावा और अंततः सन् 1515 में यूरोप भेज दिया गया। सन् 1675 तक इंग्लैंड में 3,000 से अधिक कॉफी हाउस बन गए थे।
  6. मूलतः कॉफी को यमन और अरब में डॉक्टर की सलाह के बाद लिया जाता था। इसका सेवन एक दवा की तरह किया जाता था। बहुत सारे लोगों ने यह देखा था कि कॉफी दिमाग की टॉनिक की तरह काम करती हैं और इसे धार्मिक दृष्टि से दिमाग को उत्तेजित करने वाले पेय के रूप में देखा गया।
  7. अरब प्रायद्वीप पर सबसे पहले कॉफी के पौधों की खेती अरबों ने की थी। अरब आमतौर पर भुनी हुई, उबली हुई कॉफी या कहवा (जो कि अरबों के लिए इस्लामी शराब मानी जाती है) के रूप में इस्तेमाल करते थे।
  8. सन् 2011 के वैज्ञानिक अध्ययन से यह पता चलता है कि जो औरतें दो से तीन कप कॉफी एक दिन में पीती हैं, उन्हें 10 साल की अवधि में होने वाले अवसाद की संभावना 15% कम हो जाती है, उन लोगों की तुलना में जो प्रति सप्ताह एक कॉफी या उससे भी कम कॉफी पीते हैं।
  9. लाइट रोस्ट कॉफी (कम समय के लिए भुनी गयी कॉफ़ी) में कैफीन की मात्रा ज्यादा होती है।
  10. दुनिया में हर साल 500 बिलियन से ज्यादा कॉफी पी जाती है। कॉफी दुनिया का सबसे लोकप्रिय पेय है।
coffee
  1. कॉफ़ी कच्चे तेल के बाद दुनिया की सबसे ज्यादा व्यापार की जाने वाली वस्तु है।
  2. उत्तरी अमेरिका के केवल हवाई और प्यूर्टो रिको नामक स्थान पर कॉफी की पैदावार की जाती है।
  3. दुनिया का पहला कॉफी हाउस सन् 1475 में कॉन्स्टेंटिनोपल (जो कि आधुनिक दिनों में इंस्तांबुल है) में खोला गया था।
  4. सन् 1511 में मक्का के गवर्नर खैर बीर ने कॉफी पर प्रतिबंध लगा दिया था, क्योंकि उनको डर था कि इससे उनके शासन के प्रतिरोध को बढ़ावा मिल सकता है, सुल्तान ने इनके इस प्रतिरोध को इस आधार पर मात दी थी कि कॉफी वास्तव में एक धन्य पेय है।
  5. 16वीं शताब्दी तक कॉफी का आयात अरब से यूरोप में वेनिस के द्वारा किया जाता था। उस समय कुछ भिक्षुओं ने ‘पोप क्लेमेंट VIII’ से इसे मुस्लिम पेय कहकर बाहर करने का आग्रह किया, परंतु पोप ने अपना तर्क दिया कि यह पेय इतना अच्छा है कि केवल ‘पगान’ ही इसे पी सकते हैं, यह कहना ‘पाप’ होगा। इसके बाद कॉफी पूरे यूरोप में फैलने लगी।
  6. जब सन् 1652 ने इंग्लैंड में पहला कॉफी हाउस खोला गया तो वहां पुरुषों को कॉफी देने के अलावा औरतों का अंदर प्रवेश वर्जित था।
  7. सन् 1906 में जॉर्ज वाशिंगटन नामक एक बेल्जियम ने ग्वाटेमाला में इंस्टेंट (तत्काल) कॉफी का आविष्कार किया।
  8. अध्ययनों से पता चलता है कि कॉफी पीने से संज्ञानात्मक गिरावट और मस्तिष्क सम्बंधित न्यूरोडीजेनरेटिव विकार कम हो सकते हैं।
  9. अरबों ने बेशक कॉफी की खोज की थी, परंतु उन्होंने कॉफी के उपजाऊ बीजों को अपने देश के अलावा किसी भी और देश को देने से इंकार कर दिया। हालांकि 17वीं शताब्दी में एक मुस्लिम तीर्थयात्री बाबा बुदन ने अरब से सात बीजों की तस्करी की और उन्हें भारत लेकर आए। ऐसा माना जाता है कि दुनिया में की सारी कॉफी इन्हीं सात बीजों की देन है।
  10. कॉफी का सबसे ज्यादा उपभोग अमेरिकन करते हैं। वह प्रतिदिन 450 मिलियन कप कॉफी का इस्तेमाल कर लेते हैं। एक वर्ष में इसकी संख्या 150 बिलियन कप से भी अधिक हो जाती है।
coffe cup
  1. मुख्यतः कॉफी की दो प्रजातियां ज्यादा मशहूर हैं जिनका उपयोग कॉफी उत्पादन के लिए किया जाता है। १. कॉफी अरेबिका। जिसकी उत्पत्ति मध्य पूर्व में हुई। २. कॉफी रोबोस्टर। जो कांगो में उत्पन्न हुई। अरेबिका के पेड़ सबसे अच्छी गुणवत्ता वाली कॉफी का उत्पादन करते हैं और दुनिया के तीन चौथाई हिस्सों में इन्हीं की खेती की जाती है। जबकि रॉबस्टा बींस कठोर होते हैं और 40% से 50% कैफीन की मात्रा इन में ज्यादा होती है। इनका इस्तेमाल मुख्यतः इंस्टेंट कॉफी बनाने में किया जाता है।
  2. कॉफी व्यापार में प्रवेश करने वाले पहले यूरोपियन डच थे। उन्होंने भारत के मालाबार तट से अपनी पूर्व कॉलोनियों में, जिन्हें डच ईस्ट इंडीज या वर्तमान इंडोनेशिया कहा जाता है, कॉफी के पौधों का आयात किया।
  3. कॉफी के पेड़ों की खेती 70 से अधिक देशों में की जाती है। ज्यादातर पैदावार अफ्रीका, दक्षिण एशिया, दक्षिण पूर्व एशिया और लैटिन अमेरिका में की जाती है।
  4. कॉफी का स्वास्थ्य पर पड़ने वाला प्रभाव इस बात पर ज्यादा निर्भर करता है कि कॉफ़ी कैसे तैयार की गई है। उदाहरण के लिए कॉफी फिल्टर पेपर तैलीय घटकों को हटाते हैं, जिन्हें डिट्रैपेस कहा जाता है साथ ही इन्हें ‘कोरोनरी हृदय रोग’ से भी जोड़ा गया है। हालांकि धातु फिल्टर इन तैलीय घटकों को नहीं हटा पाते हैं।
  5. वैज्ञानिक अध्ययन दिखाते हैं कि जो पुरुष प्रति दिन 6 या 6 से ज्यादा कप कॉफी पीतें हैं, उन्हें प्रोटेस्ट कैंसर होने की संभावना 20% कम हो जाती है, उन लोगों से जो नहीं पीते हैं।
  6. सन् 1715 में डच कॉफी व्यापारियों ने फ्रांस के प्रभावशाली राजा लुई XIV को अपने स्वयं के कॉफी के पेड़ लगाने के लिए प्रेरित किया था। उस एकल पेड़ से लाखों और पेड़ उगाए। शेवेलियर गैब्रियल मैथ्यू डी क्लीयू ने कुछ पेड़ों से कुछ कटिंग चुरा ली और कैरेबियन में मार्टिनिक पर कॉफी की खेती शुरू कर दी। 50 वर्षों के भीतर ही मार्टीनिक और पड़ोसी द्वीपों पर 20 मिलियन से अधिक कॉफी के पेड़ उग आए थे।
  7. यद्यपि कॉफी की पैदावार अलग अलग तरह की होती है। परंतु फिर भी एक कॉफी के पेड़ से सामान्यतः एक वर्ष में केवल इतनी ही कॉफी बींस निकलती हैं, जो आधा किलो कॉफी के बैग को भरने के लिए पर्याप्त होती हैं।
  8. कॉफी के पेड़ को परिपक्व होने में 3 से 4 साल लगते हैं। एक बार जब यह पेड़ परिपक्व हो जाता है, तो हर साल मौसम के अनुसार 1 से 2 पौंड (0.5 से 1 किलो) कॉफी की पैदावार करता है।
  9. कॉफी तीन बार तीन अलग-अलग संस्कृतियों में प्रतिबंधित हो चुकी है। एक बार 16 वीं शताब्दी में मक्का में, एक बार जब यूरोप में चार्ल्स द्वितीय ने चल रही क्रांति को शांत करने के प्रयास में पेय पर प्रतिबंध लगा दिया था और एक बार जब फ्रेडरिक ने सन् 1677 में जर्मनी में कॉफी पर प्रतिबंध लगा दिया था क्योंकि वह चिंतित थे कि लोग कॉफी पर बहुत अधिक पैसा खर्च कर रहे हैं।
  10. कॉफी उद्योग से विश्व में 25 मिलियन लोगों को रोजगार मिलता है।
  11. चाय अमेरिका में कॉफी से अधिक लोकप्रिय थी, जब तक कि किंग जॉर्ज III ने सन् 1767 के स्टांप अधिनियम के तहत करों में वृद्धि नहीं की थी। परिणामस्वरूप ‘बोस्टन टी पार्टी’ एक विद्रोह था, जिसमें बोसोनियन लोगों ने ब्रिटिश ईस्ट इंडिया के चाय के कैरोस को बंदरगाहों में फेंक दिया था। उस समय के बाद से कॉफी अमेरिका का राष्ट्रीय पेय बन गई और जिसका कारण भावनात्मक रूप से इस क्रांति से जुड़ा हुआ था।
coffee shop
  1. 4 मिलियन से अधिक कॉफी पेड़ों के साथ ब्राजील दुनिया का सबसे बड़ा कॉफी पैदा करने वाला देश है। वास्तव में ब्राजील आज दुनिया की लगभग एक तिहाई कॉफी का उत्पादन करता है। वियतनाम, कोलंबिया, इंडोनेशिया और भारत शीर्ष के उन पांच कॉफी उत्पादक देशों में से एक हैं।
  2. शब्द ‘कॉफी’ अरबी ‘कवाह’ से बना है जिसका अर्थ ‘शराब’ होता है। कॉफी के लिए तुर्की शब्द ‘कहवे’ जो कि अरबी शब्द से लिया गया है और यह ‘कैफे’ शब्द से संबंधित है अन्य विद्वानों का यह भी मानना है कि यह शब्द इथियोपिया के एक क्षेत्र ‘काफा’ से संबंधित है, जहां कॉफी की उत्पत्ति हुई थी।
  3. एक कप अच्छी कॉफी बनाने के लिए पर्याप्त कॉफी फलियों के उत्पादन में 37 गैलन पानी की आवश्यकता होती है। यदि हम तुलना करें तो सेब के लिए 19 गैलन, केले के लिए 27 गैलन और एक जोड़ी चमड़े के जूते के लिए 4,400 गैलन पानी की आवश्यकता होती है।
  4. उत्तरी अमेरिका में पीने के लिए उपयोग किए जाने वाले पानी का एक तिहाई हिस्सा दैनिक रूप से कॉफी पीने के लिए उपयोग किया जाता है।
  5. क्योंकि माँ के शरीर में पल रहे भ्रूण कैफीन पूरी तरह से हजम होने या उत्सर्जित करने में सक्षम नहीं होते, इसी वजह से चिकित्सक सलाह देते हैं कि गर्भवती महिला को प्रतिदिन 200 मिलीग्राम से भी कम कॉफी पीनी चाहिए। कैफीन एक वयस्क की तुलना में एक भ्रूण के अंदर 10 गुना अधिक समय तक रक्त में रह सकता है।
  6. कॉफी में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो हानिकारक फ्री रेडिकल्स (मुक्त कणों) से कोशिकाओं की क्षति होने से बचाने में मदद करते हैं। एक शोध से पता चलता है कि सामान्यता कॉफी में एंटी ऑक्सीडेंट्स की मात्रा अंगूर के रस, ब्लूबेरी या संतरे के रस से कहीं अधिक होते हैं।
  7. स्टारबक्स को सन् 1971 में सीएटल, अमेरिका में खोला गया। सन् 2010 में इसने 40 देशों में 10.7 बिलियन डॉलर और 16,850 स्टोर्स का राजस्व अर्जित किया। जिससे यह दुनिया का शीर्ष कॉफी रिटेलर बन गया। स्टारबक्स 87,000 से अधिक संभावित कॉफी पेय संयोजन प्रदान करता है।
  8. अमेरिका में सबसे ज्यादा पहचाने जाने वाली गंध जलती हुई लकड़ी की गंध है। कॉफी की गंध दूसरे नंबर पर आती है।
  9. अध्ययनों से पता चलता है कि कॉफी पीने से कई बीमारियों जैसे अल्जाइमर रोग, पार्किंसन रोग, हृदय रोग, डायबिटीज (मधुमेह) टाइप 2, लिवर सिरोसिस और गाउट का खतरा कम हो जाता है।
  10. एक अनुमान है कि हर पांच में से चार अमेरिकन अपनी सुबह की शुरुआत कॉफी से करते हैं।
coffee cup
  1. अमेरिकन के अलावा कॉफी पीने वाले दो अन्य सबसे बड़े देश फ्रांस और जर्मनी हैं। यह तीनों देश कुल मिलाकर दुनिया में कुल कॉफी उत्पादन का 65% भाग का उपभोग करते हैं।
  2. द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान अमेरिकी सैनिकों को जीआई जोस के रूप में जाना जाता था। क्योंकि उन्होंने बड़ी मात्रा में कॉफी पी थी। यह पेय उस समय जल्द ही एक लोकप्रिय उपनाम ‘एक कप जॉय’ के नाम से मशहूर हो गया था।
  3. दुनिया की सबसे महंगी कॉफी इंडोनेशिया की कॉफ़ी लूवक या सीवर्ट कॉफी है। इसे उन कॉफी बींस से बनाया जाता है जिन्हें आंशिक रूप से पचाया जाता है और फिर एशियाई पांम सीवेट नामक जानवर द्वारा उत्सर्जित किया जाता है। यह फलियां $600 से अधिक प्रति पाउंड या फिर $50 प्रति कप बेची जाती हैं।
  4. कॉफी में कैफीन की मात्रा उस में इस्तेमाल की जाने वाली बींस पर निर्भर करती है। साथ ही वह उन्हें कितना रोस्ट किया गया है और कॉफी को कैसे पिया जाता है, इस बात पर भी निर्भर करती है। सामान्यता एक छोटा कप कॉफी में 65 मिलीग्राम कैफीन होती है और अगर तुरंत बनने वाली इंस्टेंट कॉफी की बात की जाए तो इसमें 115 मिलीग्राम कैफीन पाई जाती है।
  5. यूनाइटेड स्टेट्स में 29 सितंबर को ‘राष्ट्रीय कॉफी दिवस’ मनाया जाता है। कोस्टारिका में इसे 12 सितंबर को, आयरलैंड में यह 19 सितंबर और जापान में यह 1 अक्टूबर को मनाया जाता है।
  6. स्टारबक्स कॉफी की दुकानें प्रतिवर्ष 93 मिलियन गैलन दूध का उपयोग करतीं हैं। यह 155 ओलंपिक-आकार के स्विमिंग पूल भरने के लिए काफी है। साथ ही यह 2.3 बिलियन पेपर कप का भी सालाना इस्तेमाल करती हैं।
  7. गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड के अनुसार कॉफ़ी के सबसे बड़े कप में १३,२०० लीटर कॉफ़ी आई थी. इस कप का आकार लगभग साढ़े नौ फीट ऊँचा था.
  8. कैफीन का प्रतिदिन 400 मिलीग्राम से अधिक सेवन हानिकारक हो सकता है. इससे माइग्रेन, ह्रदय-गति का बढ़ना, मांसपेशी में कम्पन, मिचली, मिर्गी के दौरे, गफलत इत्यादि हो सकते हैं.
  9. ऐसा कहते हैं कि संगीत-सम्राट बीथोवेन अपने कॉफ़ी के हर एक कप में करीब 60 कॉफ़ी बीन्स गिन कर इस्तेमाल करते थे.
  10. कॉफ़ी की वजह से विश्व में सबसे पहले ‘वेब-कैमरा’ का आविष्कार हुआ. 1991 में यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैंब्रिज (इंग्लैंड) में वैज्ञानिकों ने एक कैमरा लगाया जिससे कॉफ़ी मशीन की ‘लाइव’ पिक्चर कॉफ़ी कर्मचारियों द्वारा देखी जा सके जिससे वे समय पर ये देख सकें कि कॉफ़ी का पॉट भरा है या नहीं. दो साल बाद इस कैमरे को इन्टरनेट से जोड़ दिया गया और यह वेब-कैमरा के रूप में प्रयोग होने लगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here