12 टिप्स जो आपको सुरक्षित ऑनलाइन शॉपिंग करने में मदद करेंगे

0
335

ऑनलाइन शॉपिंग बहुत तेजी से लोकप्रिय होती जा रही है। आप घर बैठे-बैठे अपने प्यारे से मोबाइल में अपनी मनपसंद चीज देख कर आर्डर कर सकते हैं. और दूसरे ही पल वो चीज आपके दरवाजे पर आ जाती है। इसी वजह से आजकल बहुत से लोग ऑनलाइन शॉपिंग की तरफ तेजी से रूख कर रहे हैं. पर ऑनलाइन शॉपिंग जितनी आकर्षक है कभी कभी ये उतनी ही खतरनाक भी हो जाती है. आजकल इंटरनेट पर ऐसी बहुत सी फर्जी वेबसाइटस है जो आपको कम पैसे में सामान खरीदने का लालच देकर लूट रही है. वास्तव में ये वेबसाइटस आपके क्रेडिट कार्ड की जानकारी का गलत इस्तेमाल कर सकती है. और आपके मेहनत की कमाई को खराब कर सकती है.

साल 2016 में FBI के इन्टरनेट कंप्लेंट सेंटर ने करीब 300,000 ऑनलाइन चोरी की शिकायतें प्राप्त की और पीड़ितों ने लगभग 1.3 बिलियन डॉलर की रकम गवां दी। इसलिए ऑनलाइन शॉपिंग करते समय हमे बहुत सी बातों का ध्यान रखना चाहिये। आज इस लेख में आपको कुछ ऐसी टिप्स दी जायेगी जिससे आप सुरक्षित ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं। और अपनी मेहनत की कमाई को बचा सकते हैं।

1. हमेशा विश्वसनीय वेबसाइटस से ही खरीददारी करें

आजकल इंटरनेट पर ऐसी बहूत सी फेक वेबसाइटस है जो आपके साथ धोखा कर सकती है। तो किसी भी वेबसाइट से सामान खरीदने से पहले उस वेबसाइट की समीक्षा अवश्य करनी चाहिये। ताकि आपको पता लग जाये कि वो वेबसाइट सुरक्षित है या नहीं। आप यूटयूब या गूगल के माध्यम से किसी भी वेबसाइट की समीक्षा कर सकते हैं। तो किसी के बहकावे में आने से अच्छा है कि पहले आप उस वेबसाइट की समीक्षा जरूर कर लें। यदि वेबसाइट के url (एड्रेस बार में लिखा वेबसाइट का एड्रेस) की शुरुआत https से ना हो कर http से हो रही है तो वेबसाइट पैसे के लें दें के लिए सुरक्षित नहीं है.

2. निम्नतम मूल्यो वाली चीजों से सावधान रहें

अगर कोई वेबसाइट कुछ ऐसा ऑफर दे रही है जो दिखने में कुछ ज्यादा ही अच्छा लग रहा है तो समझ लीजिये दाल में कुछ काला हो सकता है। उदाहरण के लिए अगर कोई वेबसाइट 1000 रूपये में एक नया, बहुत अच्छे फीचर वाला, स्मार्टफोन दे रही है तो आपको इस स्मार्टफोन की कीमत को दूसरी वेबसाइटस की कीमत के साथ तुलना करनी चाहिए ताकि आप पता लगा पाएं कि ये स्माटफोन 1000 रूपये में आना मुमकिन है या नहीं. अगर ऑफर अविश्वसनीय तरीके का हो तो काफी सम्भावना है कि कुछ गोलमाल है.

जैसे जैसे भारत में इंटरनेट अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है। लोगों में भी ऑनलाइन शॉपिंग का शौक बढ़ा है। आंकड़ो की माने तो 2020 तक लगभग 25 करोड़ लोग ऑनलाइन शॉपिंग कर चुके होंगे.

3. एक मजबूत पासवर्ड का इस्तेमाल करें

अगर किसी के पास आपके एकाउंट का पासवर्ड है तो वो बडी आसानी से आपका ऑनलाइन शॉपिंग अकांउंट खोल सकता है. ऐसा करके आपके क्रेडिट या डेबिट कार्ड की जानकारी भी ली जा सकती है और आपके द्वारा आर्डर किये हुए सामन की शिपिंग का पता भी बदला जा सकता है या फिर आपके नाम से कई अन्य सामान भी आर्डर किये जा सकते हैं. इसलिए अच्छा होगा कि आप आज ही एक ऐसा पासवर्ड सेट करें जो किसी को भी न पता हो । अच्छा पासवर्ड सेट करने के बारे में इन्टरनेट से जानकारी हासिल करें और सलाह को फॉलो करें. आप एक जटिल पासवर्ड का इस्तेमाल करिये जिसमें कई प्रकार के सिंबल व अपरकेस (uppercase) व लोअरकेस (lowercase) लेटर्स का इस्तेमाल हो। और कभी भी दो अकाउंटस के लिए एक ही पासवर्ड न चुने।

4. क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना

जब आप क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करते हैं तो शॉपिंग में सबसे ज्यादा सुरक्षा रहती है चाहे ऑनलाइन हो या ऑफलाइन । यदि कोई आपके क्रेडिट कार्ड से बिना बात के शुल्क काटता है तो नियम कहते हैं कि आपको इस शुल्क का भुगतान नहीं करना पडेगा और आपके कार्ड की जांच कार्ड जारी करने वाला बैंक करता है। अंधिकांश प्रमुख क्रेडिट कार्ड जारी करने वाले बैंक फर्जी खरीद के लिए इन्शुरन्स प्रदान करते हैं।

online shopping should be done with credit card

5. ईमेल घोटालों का ध्यान रखें

कभी कभी आपके ईमेल में कुछ ऐसे मेल आते है जो कहते है कि आपके लिए स्पेशल ऑफर चल रहा है और कहते हैं कि ये ऑफर सीमित समय के लिए ही है। इनमें अभी क्लिक करने पर जोर दिया जाता है. तो ऐसे में कुछ लोग ऐसे मेल पर क्लिक कर देते हैं और अपना सारा पैसा गवां बैठतें हैं. आपकों ऐसे नकली मेल का ध्यान जरूर रखना चाहिए और कभी भी इन पर क्लिक नहीं करना चाहिए। क्योंकि ऐसे मेल आपसे निजी जानकारी लेकर बहुत सारा पैसा लूट लेते हैं। इन मेंल पर क्लिक करने से आपके डिवाइस में हानिकारक वायरस भी आ सकते हैं।

6. जरूरत से ज्यादा जानकारी किसी को भी न दें

भरोसेमंद वेबसाइट कभी भी आपसे आपकी निजी जानकारी नहीं मांगती और न ही कोई ज्यादा जानकारी मांगती हैं. तो ऐसे में अगर कोई ऐप या वेबसाइट आपसे आपकी निजी जानकारी के बारे में पुछती है तो तुरंत उसे अपने डिवाइस से हटा दीजिए. उससे जुडे हूए कार्ड को भी ब्लोक करवा दीजिए जिससे आपका खून पसीने की कमाई खराब न हो।

7. नियमित रूप से अपने बैंक के स्टेटमेन्टस की जाँच करें

आप अपने अकाउंट को हफ्ते मे एक या दो बार जरूर जाँचे कि कहीं आपके अकाउंट से धोखे से कोई पैसा तो नहीं कटा है. हमेशा अपने खाते सम्बंधी अलर्ट चालू रखे ताकि जब भी आपके अकाउंट पर कोई गतिविधि हो आपके फ़ोन और ईमेल पर तुरंत मेसेज आ जाए । और आप किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी का समय पर पता लगाकर उससे बच पाएं।

8. सामान के विवरण का ध्यान रखें

जब भी आप कोई नया सामान खरीदते हैं तो आपको उस सामान के साथ एक रसीद प्राप्त होती है जिसमें आपके द्वारा आर्डर किये गये सामान का विवरण होता है । इसे संभाल कर रखना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर आपके द्वारा खरीदे गये सामान में कोई दिक्कत आती है तो आप इसको सबूत के रूप में दिखा सकते हैं। और सामान को बदला सकते हैं।

9. यदि आपको सामान नहीं मिलता तो उपर्युक्त कार्यवाही करें

कई बार ऐसा होता है कि आप पैसा तो दे देते हैं लेकिन सामान आपके घर नहीं पहुंचता है तो ऐसे में आप कस्टमर केयर को फोन कर सकते हैं. अगर कस्टमर केयर आपको संतोषजनक जवाब नहीं देता है तो इसका मतलब हो सकता है कि आप जालसाजी का शिकार हो गए हों. पर घबराने की कोई जरूरत नहीं है ऐसे समय में आपको अपने क्रेडिट कार्ड जारी करने वाले बैंक को फोन करना चाहिए क्यों कि वह आपकी सारी दिक्कत दूर कर सकता है. अक्सर वह आपके स्टेटमेंट से ऐसे चार्जेज को हटा देते हैं।

avoid credit card frauds in online shopping

10. सार्वजनिक वाई-फाई के इस्तेमाल से बचें

आजकल बहुत से लोगों को मुफ्त की चीजें बहुत पसन्द आती है तो ऐसे में अगर आपको कहीं पर खुला वाई-फाई मिल जाए तो पक्की बात है कि लोग इसका इस्तेमाल्कारना चाहेंगे। पर क्या आपको पता है ये कितना खतरनाक हो सकता है। एक सार्वजनिक वाई-फाई के माध्यम से कोई भी हैकर आपकी निजी जानकारी चुरा सकता है जिसमें आपकी क्रेडिट कार्ड की जानकारी भी शामिल है. और एक बार अगर उसे आपके निजी जानकारी के बारे में पता चल गया तो फिर वो कुछ भी कर सकता है. फिर आपके पास पछताने के अलावा कुछ नहीं बचेगा। तो आप सार्वजनिक वाई-फाई में कुछ भी चलाइये पर कभी भी ऑनलाइन शॉपिंग मत करिये।

11. एक वी पी एन (vpn) का इस्तेमाल करें

वी पी एन आपके डिवाइस और सर्वर के बीच एक गोपनीय संबंध बना देती है जिससे कोई भी आपकी निजी जानकारी को चुरा नहीं सकता। इसका अर्थ है एक वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क और यह आपकी निजी जानकारी को एकदम सुरक्षित रखती है। खासतौर पर अगर आप किसी सार्वजनिक नेटवर्क से शॉपिंग करना चाहते हैं और वी पी एन का इस्तेमाल नहीं करेंगे तो हैकर्स आसानी से आपकी निजी जानकारी चुरा सकते हैं।

12. वेबपेज की सुरक्षा को जाँचे

आपने कभी न कभी अपने वेबसाइट लिखे जाने वाली जगह पर बायीं ओर एक बंद ताले का आइकन जरूर देखा होगा। ये दर्शाता है कि आप जिस पेज पर है उस पर गोपनीय सरंक्षण स्थापित है। इसे ‘सुरक्षित सॉकेट लेयर’ कहा जाता है. यदि आप जिस वेबसाइट से ऑनलाइन शॉपिंग करना चाह रहे हैं उस पर यह नहीं है तो अच्छा रहेगा कि आप तुरंत उस वेबसाइट को बंद कर दें।

Leave a Reply